LyricsIndia: ऐसे चुप हैं कि ये मंज़िल भी कड़ी हो जैसे | 1000+ مجموعة أفضل موسيقى الوقت

by jack ck

LyricsIndia: ऐसे चुप हैं कि ये मंज़िल भी कड़ी हो जैसे | Collections best music of time

LyricsIndia.net

Hey, want to try making your own Karaoke from any youtube track? Check out some samples on our new beta website Pruthak (meaning: separate) which can split a track into vocals, drums, bass, piano!

Search Results

गाना / Title: ऐसे चुप हैं कि ये मंज़िल भी कड़ी हो जैसे – aise chup hai.n ki ye ma.nzil bhii ka.Dii ho jaise

चित्रपट / Film: गैर फ़िल्म-(Non-Film)

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist:
Ahmed Faraz

गायक / Singer(s):
Ghulam Ali

Lyrics in English – ASCII
देवनागरी बोल :

ऐसे चुप हैं कि ये मंज़िल भी कड़ी हो जैसे
तेरा मिलना भी जुदाई की घड़ी हो जैसे

अपने ही साये से हर गाम लरज़ जाता हूँ
रास्ते में कोई दीवार खड़ी हो जैसे

मंज़िलें दूर भी हैं मंज़िलें नज़दीक भी हैं
अपने ही पाँव में ज़ंजीर पड़ी हो जैसे

कितने नादाँ हैं तेरे भूलने वाले कि तुझे
याद करने के लिये उम्र पड़ी हो जैसे

आज दिल खोल के रोये हैं तो यूँ ख़ुश हैं 'फ़राज़'
चन्द लम्हों की ये राहत भी बड़ी हो जैसे

Lyrics in Unicode – Devanagari
Lyrics:

aise chup hai.n ki ye ma.nzil bhii ka.Dii ho jaise
teraa milanaa bhii judaa_ii kii gha.Dii ho jaise

apane hii saaye se har gaam laraz jaataa huu.N
raaste me.n ko_ii diiwaar kha.Dii ho jaise

ma.nzile.n duur bhii hai.n ma.nzile.n nazadiik bhii hai.n
apane hii paa.Nv me.n za.njiir pa.Dii ho jaise

kitane naadaa.N hai.n tere bhuulane waale ki tujhe
yaad karane ke liye umr pa.Dii ho jaise

aaj dil khol ke roye hai.n to yuu.N Kush hai.n 'faraaz'
chand lamho.n kii ye raahat bhii ba.Dii ho jaise


कुछ और सुझाव / Related content:

See more great songs lyrics here: view here

full song LyricsIndia: ऐसे चुप हैं कि ये मंज़िल भी कड़ी हो जैसे

LyricsIndia.net

Hey, want to try making your own Karaoke from any youtube track? Check out some samples on our new beta website Pruthak (meaning: separate) which can split a track into vocals, drums, bass, piano!

Search Results

गाना / Title: ऐसे चुप हैं कि ये मंज़िल भी कड़ी हो जैसे – aise chup hai.n ki ye ma.nzil bhii ka.Dii ho jaise

चित्रपट / Film: गैर फ़िल्म-(Non-Film)

संगीतकार / Music Director:

गीतकार / Lyricist:
Ahmed Faraz

गायक / Singer(s):
Ghulam Ali

Lyrics in English – ASCII
देवनागरी बोल :

ऐसे चुप हैं कि ये मंज़िल भी कड़ी हो जैसे
तेरा मिलना भी जुदाई की घड़ी हो जैसे

अपने ही साये से हर गाम लरज़ जाता हूँ
रास्ते में कोई दीवार खड़ी हो जैसे

मंज़िलें दूर भी हैं मंज़िलें नज़दीक भी हैं
अपने ही पाँव में ज़ंजीर पड़ी हो जैसे

कितने नादाँ हैं तेरे भूलने वाले कि तुझे
याद करने के लिये उम्र पड़ी हो जैसे

आज दिल खोल के रोये हैं तो यूँ ख़ुश हैं 'फ़राज़'
चन्द लम्हों की ये राहत भी बड़ी हो जैसे

Lyrics in Unicode – Devanagari
Lyrics:

aise chup hai.n ki ye ma.nzil bhii ka.Dii ho jaise
teraa milanaa bhii judaa_ii kii gha.Dii ho jaise

apane hii saaye se har gaam laraz jaataa huu.N
raaste me.n ko_ii diiwaar kha.Dii ho jaise

ma.nzile.n duur bhii hai.n ma.nzile.n nazadiik bhii hai.n
apane hii paa.Nv me.n za.njiir pa.Dii ho jaise

kitane naadaa.N hai.n tere bhuulane waale ki tujhe
yaad karane ke liye umr pa.Dii ho jaise

aaj dil khol ke roye hai.n to yuu.N Kush hai.n 'faraaz'
chand lamho.n kii ye raahat bhii ba.Dii ho jaise


कुछ और सुझाव / Related content:

wish you have a good time

0 comment

You may also like

Leave a Comment