संवारे घनश्याम तुम तो प्रेम का अवतार हो, फस रहा हु संकटों में तुम ही केवल धार हो, | 1000+ مجموعة أفضل موسيقى الوقت

by jack ck

संवारे घनश्याम तुम तो प्रेम का अवतार हो,
फस रहा हु संकटों में तुम ही केवल धार हो,
| Collections best music of time

Download Bhajan as .txt File

Download Bhajan as IMAGE File

संवारे घनश्याम तुम तो प्रेम का अवतार हो,
फस रहा हु संकटों में तुम ही केवल धार हो,
संवारे लाडले तुम तो प्रेम का अवतार हो,

चल रही आंधी ब्यानक ववर में नियाँ फसी,
थाम लो पतवार गिरदर तब ही वेडा पार हो,
फस रहा हु संकटों में तुम ही केवल धार हो,
संवारे लाडले तुम तो …………

आप का दर्शन हमें इस शवि से बारम बार हो,
हाथ मुरली मुक्त सिर पर और गले में हार हो,
फस रहा हु संकटों में तुम ही केवल धार हो,
संवारे लाडले तुम तो …………

नंगे पद गज के करुण को दोर्हने वाले प्रभु,
देखना न निफल मेरे आंसुओ की धार हो,
फस रहा हु संकटों में तुम ही केवल धार हो,
संवारे लाडले तुम तो …………

sanvaare ghanashyaam tum to prem ka avataar ho,
phas raha hu sankaton men tum hee keval dhaar ho,
sanvaare laadale tum to prem ka avataar ho,

chal rahee aandhee byaanak vavar men niyaan phasee,
thaam lo patavaar giradar tab hee veda paar ho,
phas raha hu sankaton men tum hee keval dhaar ho,
sanvaare laadale tum to …………

aap ka darshan hamen is shavi se baaram baar ho,
haath muralee mukt sir par aur gale men haar ho,
phas raha hu sankaton men tum hee keval dhaar ho,
sanvaare laadale tum to …………

nange pad gaj ke karun ko dorhane vaale prabhu,
dekhana n niphal mere aansuo kee dhaar ho,
phas raha hu sankaton men tum hee keval dhaar ho,
sanvaare laadale tum to …………

See more great songs lyrics here: https://egyptchord.com/

full song

संवारे घनश्याम तुम तो प्रेम का अवतार हो,
फस रहा हु संकटों में तुम ही केवल धार हो,

Download Bhajan as .txt File

Download Bhajan as IMAGE File

संवारे घनश्याम तुम तो प्रेम का अवतार हो,
फस रहा हु संकटों में तुम ही केवल धार हो,
संवारे लाडले तुम तो प्रेम का अवतार हो,

चल रही आंधी ब्यानक ववर में नियाँ फसी,
थाम लो पतवार गिरदर तब ही वेडा पार हो,
फस रहा हु संकटों में तुम ही केवल धार हो,
संवारे लाडले तुम तो …………

आप का दर्शन हमें इस शवि से बारम बार हो,
हाथ मुरली मुक्त सिर पर और गले में हार हो,
फस रहा हु संकटों में तुम ही केवल धार हो,
संवारे लाडले तुम तो …………

नंगे पद गज के करुण को दोर्हने वाले प्रभु,
देखना न निफल मेरे आंसुओ की धार हो,
फस रहा हु संकटों में तुम ही केवल धार हो,
संवारे लाडले तुम तो …………

sanvaare ghanashyaam tum to prem ka avataar ho,
phas raha hu sankaton men tum hee keval dhaar ho,
sanvaare laadale tum to prem ka avataar ho,

chal rahee aandhee byaanak vavar men niyaan phasee,
thaam lo patavaar giradar tab hee veda paar ho,
phas raha hu sankaton men tum hee keval dhaar ho,
sanvaare laadale tum to …………

aap ka darshan hamen is shavi se baaram baar ho,
haath muralee mukt sir par aur gale men haar ho,
phas raha hu sankaton men tum hee keval dhaar ho,
sanvaare laadale tum to …………

nange pad gaj ke karun ko dorhane vaale prabhu,
dekhana n niphal mere aansuo kee dhaar ho,
phas raha hu sankaton men tum hee keval dhaar ho,
sanvaare laadale tum to …………

wish you have a good time

0 comment

You may also like

Leave a Comment