मॅन में खोट भारी और मुख में हरी फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा | 1000+ مجموعة أفضل موسيقى الوقت

by jack ck

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी
फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा
| Collections best music of time

Download Bhajan as .txt File

Download Bhajan as IMAGE File

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

मैल मॅन का ना डोया बदन धो लिया

फिर गंगा नहाने से क्या फयडा

फिर गंगा नहाने से क्या फयडामॅन में खोट भारी और मुख में हरी

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

मैल मॅन का ना डोया बदन धो लिया

फिर गंगा नहाने से क्या फयडा

फिर गंगा नहाने से क्या फयडा मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

मॅन में खोट भारी और मुख में हरीमॅन में मूरत प्रभु की उतारी नही

मॅन में मूरत प्रभु की उतारी नही

है सबसे बड़ा तो भिखारी वही

है सबसे बड़ा तो भिखारी वही

धन दौलत पे तू क्यू गुमान करे

धन दौलत पे तू क्यू गुमान करे

जब संग ही ना जाए तो क्या फ़ायदा

जब संग ही ना जाए तो क्या फ़ायदा मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदातू रूज रामायण है पढ़ता मगर

व्यर्थ है पढ़के मॅन ना उतारी अगर

ना माने पिता मा कहना जो तू

फिर रामायण पढ़ने से क्या फ़ायदा

तू रूज रामायण है पढ़ता मगर

व्यर्थ है पढ़के मॅन ना उतारी अगर

ना माने पिता मा कहना जो तू

फिर रामायण पढ़ने से क्या फ़ायदा

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदाउपदेश तो अच्छे तू देता फिरे

और करता करम तू सदा ही बुरे

उपदेश तो अच्छे तू देता फिरे

और करता करम तू सदा ही बुरे

फले खुद पेर करो अमल बाद में

ज्ञान दूजे को देने का है क़ायदामॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

मैल मॅन का ना डोया बदन धो लिया

फिर गंगा नहाने से क्या फयडा

मॅन में खोट भारी और मुख में हरीतीर्थो पे गया तू मगर मॅन तेरा

काम क्रोध में डाला था जिसपे डेरा

मॅन का काम जो सबसे बड़ा ना किया

चारो धामो में जाने से क्या फ़ायदा

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

तीर्थो पे गया तू मगर मॅन तेरा

काम क्रोध में डाला था जिसपे डेरा

मॅन का काम जो सबसे बड़ा ना किया

चारो धामो में जाने से क्या फ़ायदा

मॅन में खोट भारी और मुख में हरीमॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

मैल मॅन का ना डोया बदन धो लिया

फिर गंगा नहाने से क्या फयडा

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

mail maॅn ka na doya badan dho liyaa

phir ganga nahaane se kya phayadaa

phir ganga nahaane se kya phayadaamaॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

mail maॅn ka na doya badan dho liyaa

phir ganga nahaane se kya phayadaa

phir ganga nahaane se kya phayada maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

maॅn men khot bhaaree aur mukh men hareemaॅn men moorat prabhu kee utaaree nahee

maॅn men moorat prabhu kee utaaree nahee

hai sabase bada़a to bhikhaaree vahee

hai sabase bada़a to bhikhaaree vahee

dhan daulat pe too kyoo gumaan kare

dhan daulat pe too kyoo gumaan kare

jab sang hee na jaae to kya pha़aayadaa

jab sang hee na jaae to kya pha़aayada maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaatoo rooj raamaayan hai padha़ta magara

vyarth hai padha़ke maॅn na utaaree agara

na maane pita ma kahana jo too

phir raamaayan padha़ne se kya pha़aayadaa

too rooj raamaayan hai padha़ta magara

vyarth hai padha़ke maॅn na utaaree agara

na maane pita ma kahana jo too

phir raamaayan padha़ne se kya pha़aayadaa

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaaupadesh to achchhe too deta phire

aur karata karam too sada hee bure

upadesh to achchhe too deta phire

aur karata karam too sada hee bure

phale khud per karo amal baad men

jnaan dooje ko dene ka hai ka़aayadaamaॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

mail maॅn ka na doya badan dho liyaa

phir ganga nahaane se kya phayadaa

maॅn men khot bhaaree aur mukh men hareeteertho pe gaya too magar maॅn teraa

kaam krodh men daala tha jisape deraa

maॅn ka kaam jo sabase bada़a na kiyaa

chaaro dhaamo men jaane se kya pha़aayadaa

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

teertho pe gaya too magar maॅn teraa

kaam krodh men daala tha jisape deraa

maॅn ka kaam jo sabase bada़a na kiyaa

chaaro dhaamo men jaane se kya pha़aayadaa

maॅn men khot bhaaree aur mukh men hareemaॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

mail maॅn ka na doya badan dho liyaa

phir ganga nahaane se kya phayadaa

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

See more great songs lyrics here: view here

full song

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी
फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

Download Bhajan as .txt File

Download Bhajan as IMAGE File

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

मैल मॅन का ना डोया बदन धो लिया

फिर गंगा नहाने से क्या फयडा

फिर गंगा नहाने से क्या फयडामॅन में खोट भारी और मुख में हरी

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

मैल मॅन का ना डोया बदन धो लिया

फिर गंगा नहाने से क्या फयडा

फिर गंगा नहाने से क्या फयडा मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

मॅन में खोट भारी और मुख में हरीमॅन में मूरत प्रभु की उतारी नही

मॅन में मूरत प्रभु की उतारी नही

है सबसे बड़ा तो भिखारी वही

है सबसे बड़ा तो भिखारी वही

धन दौलत पे तू क्यू गुमान करे

धन दौलत पे तू क्यू गुमान करे

जब संग ही ना जाए तो क्या फ़ायदा

जब संग ही ना जाए तो क्या फ़ायदा मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदातू रूज रामायण है पढ़ता मगर

व्यर्थ है पढ़के मॅन ना उतारी अगर

ना माने पिता मा कहना जो तू

फिर रामायण पढ़ने से क्या फ़ायदा

तू रूज रामायण है पढ़ता मगर

व्यर्थ है पढ़के मॅन ना उतारी अगर

ना माने पिता मा कहना जो तू

फिर रामायण पढ़ने से क्या फ़ायदा

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदाउपदेश तो अच्छे तू देता फिरे

और करता करम तू सदा ही बुरे

उपदेश तो अच्छे तू देता फिरे

और करता करम तू सदा ही बुरे

फले खुद पेर करो अमल बाद में

ज्ञान दूजे को देने का है क़ायदामॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

मैल मॅन का ना डोया बदन धो लिया

फिर गंगा नहाने से क्या फयडा

मॅन में खोट भारी और मुख में हरीतीर्थो पे गया तू मगर मॅन तेरा

काम क्रोध में डाला था जिसपे डेरा

मॅन का काम जो सबसे बड़ा ना किया

चारो धामो में जाने से क्या फ़ायदा

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

तीर्थो पे गया तू मगर मॅन तेरा

काम क्रोध में डाला था जिसपे डेरा

मॅन का काम जो सबसे बड़ा ना किया

चारो धामो में जाने से क्या फ़ायदा

मॅन में खोट भारी और मुख में हरीमॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

मैल मॅन का ना डोया बदन धो लिया

फिर गंगा नहाने से क्या फयडा

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

मॅन में खोट भारी और मुख में हरी

फिर मंदिर में जाने से क्या फ़ायदा

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

mail maॅn ka na doya badan dho liyaa

phir ganga nahaane se kya phayadaa

phir ganga nahaane se kya phayadaamaॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

mail maॅn ka na doya badan dho liyaa

phir ganga nahaane se kya phayadaa

phir ganga nahaane se kya phayada maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

maॅn men khot bhaaree aur mukh men hareemaॅn men moorat prabhu kee utaaree nahee

maॅn men moorat prabhu kee utaaree nahee

hai sabase bada़a to bhikhaaree vahee

hai sabase bada़a to bhikhaaree vahee

dhan daulat pe too kyoo gumaan kare

dhan daulat pe too kyoo gumaan kare

jab sang hee na jaae to kya pha़aayadaa

jab sang hee na jaae to kya pha़aayada maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaatoo rooj raamaayan hai padha़ta magara

vyarth hai padha़ke maॅn na utaaree agara

na maane pita ma kahana jo too

phir raamaayan padha़ne se kya pha़aayadaa

too rooj raamaayan hai padha़ta magara

vyarth hai padha़ke maॅn na utaaree agara

na maane pita ma kahana jo too

phir raamaayan padha़ne se kya pha़aayadaa

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaaupadesh to achchhe too deta phire

aur karata karam too sada hee bure

upadesh to achchhe too deta phire

aur karata karam too sada hee bure

phale khud per karo amal baad men

jnaan dooje ko dene ka hai ka़aayadaamaॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

mail maॅn ka na doya badan dho liyaa

phir ganga nahaane se kya phayadaa

maॅn men khot bhaaree aur mukh men hareeteertho pe gaya too magar maॅn teraa

kaam krodh men daala tha jisape deraa

maॅn ka kaam jo sabase bada़a na kiyaa

chaaro dhaamo men jaane se kya pha़aayadaa

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

teertho pe gaya too magar maॅn teraa

kaam krodh men daala tha jisape deraa

maॅn ka kaam jo sabase bada़a na kiyaa

chaaro dhaamo men jaane se kya pha़aayadaa

maॅn men khot bhaaree aur mukh men hareemaॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

mail maॅn ka na doya badan dho liyaa

phir ganga nahaane se kya phayadaa

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

maॅn men khot bhaaree aur mukh men haree

phir mandir men jaane se kya pha़aayadaa

wish you have a good time

0 comment

You may also like

Leave a Comment