तीन के पहले वो मारे हॉट करात है नाहीकबीरा खड़ा बाज़ार मे सबकी मागे खैर ना काहु से दोस्ती ना काहु से बैर सत्या नाम जाने बिना हंस लोक नही जाए | 1000+ مجموعة أفضل موسيقى الوقت

by jack ck

तीन के पहले वो मारे हॉट करात है नाहीकबीरा खड़ा बाज़ार मे सबकी मागे खैर
ना काहु से दोस्ती ना काहु से बैर सत्या नाम जाने बिना हंस लोक नही जाए
| Collections best music of time

Download Bhajan as .txt File

Download Bhajan as IMAGE File

तीन के पहले वो मारे हॉट करात है नाहीकबीरा खड़ा बाज़ार मे सबकी मागे खैर

ना काहु से दोस्ती ना काहु से बैर सत्या नाम जाने बिना हंस लोक नही जाए

ज्ञानी पंडित सूरमा कारगए मुए उपायभाव बिना भक्ति नही भक्ति बिना नही भाव

भक्ति भाव एक रूप दौ एक सुभावजिन खोजा तीन पया गहरे पानी बैठ

मई तो बौरी बांगाई रही किनारे बैठकामी क्रोधी लालची इंपे भक्ति ना होये

भक्ति करे कोई सूरमा जात बरन कुल खोएगुरु आगया माने नही चले अटपटी चल

लोक वेद दोनो गये आए सिर पर काल

कबीरा आए सिर पर कालहम वासी उस देश के जहा जाती बरन कुल नही

शब्द मिलवा हो रहा देह मिलवा नहीकामी का गुर कामिनी लोभी का गुर दाम

कबीरा का गुर संत है संतान का गुरु रामशब्द संभाले बोलिए शब्द के हाथ ना पॅव

एक शबाद औशाद करे एक शबाद करे घावगुरु को सिर पर रखिए चलिए अगया माही

कह कबीर ता दास को टीन लोक भय नाही कबीराघायल की गति और है औरान की गति और

प्रेम बान हृदय लगा रहा कबीरा तौरहम वाशी उस देश के जहा पार ब्रम्‍हा का घेर

दीपक जले अगम का बिन बाटी बिन फेरना कुच्छ किया ना कर सका ना करने जोग शरीर

जो कुच्छ किया हरी किया भाया कबीर कबीर

teen ke pahale vo maare haॉt karaat hai naaheekabeera khada़a baaja़aar me sabakee maage khaira

na kaahu se dostee na kaahu se bair satya naam jaane bina hans lok nahee jaae

jnaanee pandit soorama kaaragae mue upaayabhaav bina bhakti nahee bhakti bina nahee bhaava

bhakti bhaav ek roop dau ek subhaavajin khoja teen paya gahare paanee baitha

maee to bauree baangaaee rahee kinaare baithakaamee krodhee laalachee inpe bhakti na hoye

bhakti kare koee soorama jaat baran kul khoeguru aagaya maane nahee chale atapatee chala

lok ved dono gaye aae sir par kaala

kabeera aae sir par kaalaham vaasee us desh ke jaha jaatee baran kul nahee

shabd milava ho raha deh milava naheekaamee ka gur kaaminee lobhee ka gur daama

kabeera ka gur sant hai santaan ka guru raamashabd sanbhaale bolie shabd ke haath na paॅva

ek shabaad aushaad kare ek shabaad kare ghaavaguru ko sir par rakhie chalie agaya maahee

kah kabeer ta daas ko teen lok bhay naahee kabeeraaghaayal kee gati aur hai auraan kee gati aura

prem baan hriday laga raha kabeera tauraham vaashee us desh ke jaha paar bram‍ha ka ghera

deepak jale agam ka bin baatee bin pherana kuchchh kiya na kar saka na karane jog shareera

jo kuchchh kiya haree kiya bhaaya kabeer kabeera

See more great songs lyrics here: egyptchord.com

full song

तीन के पहले वो मारे हॉट करात है नाहीकबीरा खड़ा बाज़ार मे सबकी मागे खैर
ना काहु से दोस्ती ना काहु से बैर सत्या नाम जाने बिना हंस लोक नही जाए

Download Bhajan as .txt File

Download Bhajan as IMAGE File

तीन के पहले वो मारे हॉट करात है नाहीकबीरा खड़ा बाज़ार मे सबकी मागे खैर

ना काहु से दोस्ती ना काहु से बैर सत्या नाम जाने बिना हंस लोक नही जाए

ज्ञानी पंडित सूरमा कारगए मुए उपायभाव बिना भक्ति नही भक्ति बिना नही भाव

भक्ति भाव एक रूप दौ एक सुभावजिन खोजा तीन पया गहरे पानी बैठ

मई तो बौरी बांगाई रही किनारे बैठकामी क्रोधी लालची इंपे भक्ति ना होये

भक्ति करे कोई सूरमा जात बरन कुल खोएगुरु आगया माने नही चले अटपटी चल

लोक वेद दोनो गये आए सिर पर काल

कबीरा आए सिर पर कालहम वासी उस देश के जहा जाती बरन कुल नही

शब्द मिलवा हो रहा देह मिलवा नहीकामी का गुर कामिनी लोभी का गुर दाम

कबीरा का गुर संत है संतान का गुरु रामशब्द संभाले बोलिए शब्द के हाथ ना पॅव

एक शबाद औशाद करे एक शबाद करे घावगुरु को सिर पर रखिए चलिए अगया माही

कह कबीर ता दास को टीन लोक भय नाही कबीराघायल की गति और है औरान की गति और

प्रेम बान हृदय लगा रहा कबीरा तौरहम वाशी उस देश के जहा पार ब्रम्‍हा का घेर

दीपक जले अगम का बिन बाटी बिन फेरना कुच्छ किया ना कर सका ना करने जोग शरीर

जो कुच्छ किया हरी किया भाया कबीर कबीर

teen ke pahale vo maare haॉt karaat hai naaheekabeera khada़a baaja़aar me sabakee maage khaira

na kaahu se dostee na kaahu se bair satya naam jaane bina hans lok nahee jaae

jnaanee pandit soorama kaaragae mue upaayabhaav bina bhakti nahee bhakti bina nahee bhaava

bhakti bhaav ek roop dau ek subhaavajin khoja teen paya gahare paanee baitha

maee to bauree baangaaee rahee kinaare baithakaamee krodhee laalachee inpe bhakti na hoye

bhakti kare koee soorama jaat baran kul khoeguru aagaya maane nahee chale atapatee chala

lok ved dono gaye aae sir par kaala

kabeera aae sir par kaalaham vaasee us desh ke jaha jaatee baran kul nahee

shabd milava ho raha deh milava naheekaamee ka gur kaaminee lobhee ka gur daama

kabeera ka gur sant hai santaan ka guru raamashabd sanbhaale bolie shabd ke haath na paॅva

ek shabaad aushaad kare ek shabaad kare ghaavaguru ko sir par rakhie chalie agaya maahee

kah kabeer ta daas ko teen lok bhay naahee kabeeraaghaayal kee gati aur hai auraan kee gati aura

prem baan hriday laga raha kabeera tauraham vaashee us desh ke jaha paar bram‍ha ka ghera

deepak jale agam ka bin baatee bin pherana kuchchh kiya na kar saka na karane jog shareera

jo kuchchh kiya haree kiya bhaaya kabeer kabeera

wish you have a good time

0 comment

You may also like

Leave a Comment