कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं, बाद अमृत पिलाने से क्या फ़ायदा । कभी गिरते हुए को उठाया नहीं, बाद आ | 1000+ مجموعة أفضل موسيقى الوقت

by jack ck

कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं, बाद अमृत पिलाने से क्या फ़ायदा ।
कभी गिरते हुए को उठाया नहीं, बाद आ
| Collections best music of time

Download Bhajan as .txt File

Download Bhajan as IMAGE File

कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं, बाद अमृत पिलाने से क्या फ़ायदा ।
कभी गिरते हुए को उठाया नहीं, बाद आंसू बहाने से क्या फ़ायदा ॥

मैं तो मंदिर गया, पूजा आरती की, पूजा करते हुए यह ख़याल आ गया ।
कभी माँ बाप की सेवा की ही नहीं, सिर्फ पूजा के करने से क्या फ़ायदा ॥

मैं तो सतसंग गया, गुरु वाणी सुनी, गुरु वाणी को सुन कर ख्याल आ गया ।
जनम मानव का ले के दया ना करी, फिर मानव कहलाने से क्या फ़ायदा ॥

मैंने दान किया मैंने जप तप किया दान करते हुए यह ख्याल आ गया ।
कभी भूखे को भोजन खिलाया नहीं दान लाखों का करने से क्या फ़ायदा ॥

गंगा नहाने हरिद्वार काशी गया, गंगा नहाते ही मन में  ख्याल आ गया ।
तन को धोया मनर मन को धोया नहीं फिर गंगा नहाने से क्या फ़ायदा ॥

मैंने वेद पढ़े मैंने शास्त्र पढ़े, शास्त्र पढते हुए यह ख़याल आ गया ।
मैंने ज्ञान किसी को बांटा नहीं, फिर ग्यानी कहलाने से क्या फ़ायदा ॥

माँ पिता के ही चरणों में ही चारो धाम है, आजा आजा यही मुक्ति का धाम है ।

kabhee pyaase ko paanee pilaaya naheen, baad amrit pilaane se kya pha़aayada .
kabhee girate hue ko uthaaya naheen, baad aansoo bahaane se kya pha़aayada ..

main to mandir gaya, pooja aaratee kee, pooja karate hue yah kha़yaal a gaya .
kabhee maan baap kee seva kee hee naheen, sirph pooja ke karane se kya pha़aayada ..

main to satasang gaya, guru vaanee sunee, guru vaanee ko sun kar khyaal a gaya .
janam maanav ka le ke daya na karee, phir maanav kahalaane se kya pha़aayada ..

mainne daan kiya mainne jap tap kiya daan karate hue yah khyaal a gaya .
kabhee bhookhe ko bhojan khilaaya naheen daan laakhon ka karane se kya pha़aayada ..

ganga nahaane haridvaar kaashee gaya, ganga nahaate hee man men  khyaal a gaya .
tan ko dhoya manar man ko dhoya naheen phir ganga nahaane se kya pha़aayada ..

mainne ved padha़e mainne shaastr padha़e, shaastr padhate hue yah kha़yaal a gaya .
mainne jnaan kisee ko baanta naheen, phir gyaanee kahalaane se kya pha़aayada ..

maan pita ke hee charanon men hee chaaro dhaam hai, aaja aaja yahee mukti ka dhaam hai .

See more great songs lyrics here: view here

full song

कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं, बाद अमृत पिलाने से क्या फ़ायदा ।
कभी गिरते हुए को उठाया नहीं, बाद आ

Download Bhajan as .txt File

Download Bhajan as IMAGE File

कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं, बाद अमृत पिलाने से क्या फ़ायदा ।
कभी गिरते हुए को उठाया नहीं, बाद आंसू बहाने से क्या फ़ायदा ॥

मैं तो मंदिर गया, पूजा आरती की, पूजा करते हुए यह ख़याल आ गया ।
कभी माँ बाप की सेवा की ही नहीं, सिर्फ पूजा के करने से क्या फ़ायदा ॥

मैं तो सतसंग गया, गुरु वाणी सुनी, गुरु वाणी को सुन कर ख्याल आ गया ।
जनम मानव का ले के दया ना करी, फिर मानव कहलाने से क्या फ़ायदा ॥

मैंने दान किया मैंने जप तप किया दान करते हुए यह ख्याल आ गया ।
कभी भूखे को भोजन खिलाया नहीं दान लाखों का करने से क्या फ़ायदा ॥

गंगा नहाने हरिद्वार काशी गया, गंगा नहाते ही मन में  ख्याल आ गया ।
तन को धोया मनर मन को धोया नहीं फिर गंगा नहाने से क्या फ़ायदा ॥

मैंने वेद पढ़े मैंने शास्त्र पढ़े, शास्त्र पढते हुए यह ख़याल आ गया ।
मैंने ज्ञान किसी को बांटा नहीं, फिर ग्यानी कहलाने से क्या फ़ायदा ॥

माँ पिता के ही चरणों में ही चारो धाम है, आजा आजा यही मुक्ति का धाम है ।

kabhee pyaase ko paanee pilaaya naheen, baad amrit pilaane se kya pha़aayada .
kabhee girate hue ko uthaaya naheen, baad aansoo bahaane se kya pha़aayada ..

main to mandir gaya, pooja aaratee kee, pooja karate hue yah kha़yaal a gaya .
kabhee maan baap kee seva kee hee naheen, sirph pooja ke karane se kya pha़aayada ..

main to satasang gaya, guru vaanee sunee, guru vaanee ko sun kar khyaal a gaya .
janam maanav ka le ke daya na karee, phir maanav kahalaane se kya pha़aayada ..

mainne daan kiya mainne jap tap kiya daan karate hue yah khyaal a gaya .
kabhee bhookhe ko bhojan khilaaya naheen daan laakhon ka karane se kya pha़aayada ..

ganga nahaane haridvaar kaashee gaya, ganga nahaate hee man men  khyaal a gaya .
tan ko dhoya manar man ko dhoya naheen phir ganga nahaane se kya pha़aayada ..

mainne ved padha़e mainne shaastr padha़e, shaastr padhate hue yah kha़yaal a gaya .
mainne jnaan kisee ko baanta naheen, phir gyaanee kahalaane se kya pha़aayada ..

maan pita ke hee charanon men hee chaaro dhaam hai, aaja aaja yahee mukti ka dhaam hai .

wish you have a good time

0 comment

You may also like

Leave a Comment